गंजेपन के कारन, लक्षण और उपचार

0
197
गंजेपन के कारन, लक्षण और उपचार

गंजापन क्या है

गंजापन एक ऐसी स्थिति है जब आपके बाल अपने आप गिरने लगते है | नए बाल आने बंद हो जाते है और पुराने बाल धीरे धीरे गिरते रहते है | समय के साथ आप गंजे हो जाते है | यह आजकल बहुत तेजी से फ़ैल रहा है और भारत में यह एक आम पाया जाने वाला रोग है |

गंजेपन के कारन

अगर गंजेपन के कारणों की बात करें तो सबसे बड़ा कारन दिमागी तनाव है | आजकल की तेज रफ़्तार जिंदगी में मानसिक तनाव बहुत बढ़ गया है और इसी की वजह से बाल गिरने लगते है | इसके बाद और भी कई कारन हैं जो की गंजेपन की वजह बनते है |

नशा, जो की आजकल बहुत तेजी से लोगों को अपना गुलाम बना रहा है, यह भी बाल गिरने का बहुत बड़ा कारन है | यह शरीर में से अंदरूनी ताकत को कम करता है जिसका सीधा असर बालों की जड़ों पर होता है और वह कमजोर हो कर निकल जाते है |

इसके इलावा शरीर के अंदरूनी हार्मोन्स और पारिवारिक कारन भी बहुत हद तक गंजेपन का कारन होते है , लेकिन ऊपरी कारणों के सामने यह बहुत छोटे हैं |

लक्षण

अगर बात करे गंजेपन के लक्षणों की तो यह एक दम से सामने नहीं आते है | समय के साथ साथ धीरे धीरे बालों का कम होना ही गंजेपन का सबसे बड़ा लक्षण है | एक और बात जो की आपके लिए समझना बहुत जरूरी है , वह यह है की गंजेपन की एक और किसम है जिसका नाम है स्थानीय गंजापन | बालों के अंदर कुछ गोलाकर अकार के निशान बनने लगते है | बालों को एक तरफ करके जड़ों के पास देखने से ही यह नजर आते है | समते के साथ यह फैलने लगते हैं और गोल गोल गंजे स्थान सर पर नजर आने लगते है | यह गोले बढ़ते रहते है और एक दूसरे से मिलकर बड़े हिस्से को गंजेपन से ग्रस्त कर देते हैं |

गंजेपन का उपचार

गंजेपन के उपचार की बहुत सी विद्यां है लेकिन हम आपको उस विधि के बारे में बताने जा रहे है जो की सबसे जायदा पसंद की जाती है और सबसे अच्छे नतीजे देती है | इस विधि का नाम बाल प्रत्यारोपण है और यह शल्य और गैरशल्य दोनों पद्धतियों के की जा सकती है |

इस तकनीक में आपके ही शरीर के बालों को एक जगह से लेकर गंजेपन वाली जगह पर लगा दिया जाता है | वहां अपर लगाने से कुछ दवाओं की मदद से उनकी जड़ें बनती है और वह आम बालों की तरह ही विकास करते हैं | इसकी सबसे बड़ी बात यह है की बाल आपके असली होने के करण दोबारा कभी नहीं गिरते और कभी भी उपचार की जरूरत नहीं पड़ती | अगर आप नकली बाल बह बाल लगवाते है तो वह कुछ समय बाद दोबारा लगवाने पड़ते है |

इस उपचार के विफल होने का भी कोई मामला नहीं है | यह विश्वसनीय पद्धिति है जो की बहुत म्हणत और परीक्षण के बाद बांये गए है |

SHARE

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY